360

मौलाना तारिक जमील को लेकर ये ट्रांसजेंडर चर्चा में है।

फ़ोटो में दिख रही ट्रांसजेंडर पाकिस्तानी है जिसके हाथ में क़ुरआन दिख रहा है इनका नाम मोहसिना जीलानी है करीब दस दिन पहले एक जमात तबलीग की पेशावर शहर के डिफेंस कॉलोनी में थी.

रोड पर जाते वक़्त मौलाना तारिक़ जमील साहब की गाड़ी रुकी उसी कॉलोनी में करीब 25*30 ट्रांसजेंडर औरतों को कॉलोनी में घुसने की कोशिश कर रही थी जिनको गार्ड धक्का मुक्की मारकर और गालियां देकर भगा रहे थे!

ये नज़ारा देखते ही किनारे पर मौलाना तारिक़ जमील साहब ने इन सभी को बुलाया और बस एक लफ्ज़ बोले इधर आओ बेटियों ये लफ्ज़ सुनते ही वो सभी फुट फुट कर जार ओ कतार रोने लगी कहने लगी आजतक किसी ने यहां तक के घरवालों ने बेटियां नहीं कहा हमें हमेशा से मुआशरा में गंदी बाते गालियां तरह तरह के गंदे अल्फ़ाज़ ही सुनने को मिले

आप कौन मौलाना है जिन्होंने ने हमें बेटियां जैसे अल्फ़ाज़ कह कर बोला है मौलाना जमील ने कहा हम दीन कि रह में चलने वाले इंसान है हमें जाती मसलक इंसान या उसकी शख्शियत से लेना देना नहीं हम तो बस अल्लाह और उसके रसूल का पैग़ाम लोगों के दिलों में पहुंचाते है

करीब 1 घंटे तक तकरीर चलती रही वो सभी रोती ही रही फिर सभी ने इस काम से अल्लाह से तौबा किया कलमा पढ़ा और अल्लाह के तरफ़ लौट आई और इन सभी के रहने खाने पीने का दीन सिखाने का इंतेजाम तबलीग की तरफ से किया गया

इंसान इज्जत और अच्छे अखलाक का भूखा है उसके लिए वो जान भी दे सकता है बस मोहब्बतें बांटते रहिए जिस तरह मौलाना तारिक़ जमील साहब बांटते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *